Bank strike on 15-16 March 2021: 2 दिन के लिए बैंक बंद, 10 लाख कर्मचारी राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल में शामिल- Watch Video

15 Mar, 2021

Bank strike on 15-16 March 2021: सरकारी बैंकों के प्रस्तावित निजीकरण (Public Sector Banks Privatisation) के खिलाफ कर्मचारी संगठनों ने राष्ट्रव्यापी हड़ताल (Bank strike) का ऐलान किया है। इसकी वजह से सोमवार और मंगलवार (15-16 मार्च) को पूरे देश में बैंकिंग सेवाएं प्रभावित होंगी। इस हड़ताल की वजह से जमा और निकासी, चेक क्लीयरेंस और लोन जैसी अन्य सेवाओं पर असर देखने को मिल सकता है।

बता दें कि 9 बैंक यूनियनों (Bank unions) के संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन (United Forum of Bank Unions-UFBU) ने जानकारी दी है कि बैंकों के लगभग 10 लाख कर्मचारी और अधिकारी इस हड़ताल में भाग लेने वाले हैं। 

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) समेत और भी कई सरकारी बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस बारे में जानकारी दी है कि यदि हड़ताल होता है, तो उनका सामान्य कामकाज शाखाओं और कार्यालयों में कामकाज पर असर पड़ेगा। साथ ही यह भी बताया है कि वे बैंक शाखाओं और कार्यालयों के कामकाज सामान्य रहने के लिए पूरी कोशिश करेंगे। 

बजट में हुई थी प्राइवेटाइजेशन की घोषणा 

पिछले महीने जब बजट पेश किया गया था तो केंद्रीय बजट (Budget 2021) में Finance Minister Nirmala Sitharaman ने सरकार के विनिवेश कार्यक्रम के तहत साल 2022 वित्त वर्ष में Public के दो बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था। 

जानें कौन से यूनियन होंगी हड़ताल में शामिल

यूएफबीयू के सदस्यों में शामिल हैं- ऑल इंडिया बैंक एम्प्लाइज एसोसिएशन (AIBEA), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (AIBOC), नेशनल कॉन्फेडरेशन ऑफ बैंक इम्प्लॉइज (NCBE), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (AIBOA) और बैंक इम्प्लॉइज कन्फेडरेशन ऑफ इंडिया (BECI) आदि। इंडियन नेशल बैंक एम्पलाईज फेडरेशन (INBEF), इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स कांग्रेस (INBOC), नेशनल आर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स (NOBW) और नेशन ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक आफीसर्स (NOBO). 


 

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
BACK