इनडाइजेशन या अपच के आयुर्वेदिक उपचार

15 Dec, 2018

 आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में अक्सर  पाचन तंत्र में गड़बड़ी हो जाती है जिसकी वजह से भोजन न पचने के कारण व्यक्ति को इनडाइजेशन या अपच हो जाता है। कई बार समय-असमय भोजन करने से, कभी भी, कुछ भी खाने-पीने तथा बार-बार खाते रहने से अपच हो जाती है। अपच की समस्या होने पर रोगी को भूख नहीं लगती, खट्टी डकारें आती हैं, छाती में जलन होती है, पेट में भारीपन महसूस होता है तथा लगातार बेचैनी सी महसूस होती रहती है। साथ ही रोगी को पसीना भी अधिक आता है, नींद नहीं आती और कभी-कभी दस्त भी हो जाते हैं।लिवर में हुई कोई खराबी अपच का कारण बन सकती है। जो लोग भोजन के तुरंत बाद लेट जाते हैं, या फिर बैठ कर काम करने लग जाते हैं तो उनको भी अपच की समस्या होने लगती है। शराब के सेवन और धूम्रपान से भी पेट खराब हो सकता है और अपच हो सकती है|

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
BACK