Amarnath Yatra 2022 : आतंकी संगठन TRF ने हमले की धमकी दी, श्रद्धालुओं को यात्रा से दूर रहने की भी दी चेतावनी - देखें

19 Apr, 2022

Amarnath Yatra 2022: बाबा अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा को लेकर देशभर के श्रद्धालुओं में बने उत्साह और सरकार की ओर से की जा रही व्यापक तैयारियों से हताश आतंकियों ने तीर्थयात्रा पर हमले की गीदड़ भभकी दी है। यह धमकी कश्मीर में आतंक का नया पर्याय बने लश्कर-ए-तैयबा का हिट स्क्वाड कहे जाने वाले आतंकी संगठन द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) ने दी है।


श्रद्धालुओं को यात्रा से दूर रहने और खून-खराबे की चेतावनी दी 

दरअसल, इंटरनेट मीडिया पर टीआरएफ का धमकी भरा पोस्ट वायरल हुआ है, जिसमें श्रद्धालुओं को यात्रा से दूर रहने और खून-खराबे की चेतावनी दी गई है। इसके साथ ही आतंकी संगठन ने यह पोस्टर जारी कर एक बार फिर से इस्लामिक कट्टरवाद का चेहरा दिखा दिया है। आतंकियों को कश्मीर में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने पर आपत्ति है।

 

अमरनाथ श्रद्धालुओं को घबराने की कतई जरूरत नहीं - वरिष्ठ सुरक्षाधिकारी 

जबकि, कश्मीर के हजारों मुस्लिम घोड़े, पिट्ठू और टेंट वालों समेत अन्य लोगों की रोजी-रोटी इसी यात्रा से जुड़ी रहती है और उन्हें सारा साल यात्रा शुरू होने का बेसब्री से इंतजार रहता है। इस बीच, एक वरिष्ठ सुरक्षाधिकारी ने कहा कि श्री अमरनाथ श्रद्धालुओं को घबराने की कतई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि आतंकी यात्रा मार्ग के पास तक नहीं फटक पाएंगे और आतंकियों को उनके ठिकाने में ही मार गिराया जाएगा।

 

2 सालों बाद फिर से शुरू होगी भगवान अमरेश्वर की यात्रा 

आपको बता दें कि इस बार भगवान अमरेश्वर की पवित्र गुफा की वार्षिक तीर्थयात्रा लगभग दो सालों बाद 30 जून को शुरू हो रही है। पिछले 2 सालों से कोरोना के चलते यह पावन यात्रा नहीं हो पाई थी। ऐसे में इस बार की यात्रा को लेकर भक्तों में काफी उत्साह और भगवान भोले के दर्शन को लेकर काफी उत्सुकता बढ़ती ही जा रही है। वहीं, दूसरी तरफ यह तीर्थयात्रा 11 अगस्त को संपन्न होगी। श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड और जम्मू कश्मीर सरकार को उम्मीद है कि इस बार तीर्थयात्रा में छह से आठ लाख श्रद्धालु शामिल होंगे। इन दिनों यात्रा के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया जारी है।

 


Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
BACK