Atal Tunnel, Rohtang: PM Modi ने कहा Leh Ladakh की Lifeline बनेगी Highway Tunnel- Watch Video

03 Oct, 2020

Atal Tunnel, Rohtang: आज हिमाचल प्रदेश में दुनिया की सबसे लंबी हाईवे सुरंग खुल गई है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सामरिक रूप से अहम सभी मौसम में खुली रहने वाली अटल सुरंग (अटल टनल) का आज यानी शनिवार को सुबह 10 बजे हिमाचल प्रदेश के रोहतांग में उद्घाटन किया। हिमालय की दुर्गम घाटियों में पहाड़ काटकर बनाई गई यह सुरंग समुद्रतल से 3,060 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। आपको बता दें कि इस टनल का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के सम्मान में उनके नाम पर रखा गया है।  इस अटल टनल के माध्यम से मनाली और लेह के बीच की दूरी बहुत कम हो जाएगी। इससे कई घंटों की बचत भी होगी। हिमाचल निवासियों को इस टनल का कई वर्षों से इंतजार था। बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि अटल जी के साथ ही एक और पुल का नाम जुड़ा है- कोसी महासेतु का। बिहार में कोसी महासेतु का शिलान्यास भी अटल जी ने ही किया था। 2014 में सरकार में आने के बाद कोसी महासेतु का काम भी हमने तेज करवाया। कुछ दिन पहले ही कोसी महासेतु का भी लोकार्पण किया जा चुका है।  इस सुरंग के खुल जाने से हिमाचल प्रदेश के कई ऐसे इलाके जो सर्दियों में बर्फबारी के चलते बाकी देश से कट जाते थे, वे पूरे साल संपर्क में रहेंगे। मनाली और लेह की दूरी भी इससे खासी कम हो जाएगी। अभी रोहतांग पास के जरिए मनाली से लेह जाने में 474 किलोमीटर का सफर तय करना होता है और अटल टनल से यह दूरी घटकर 428 किलोमीटर रह जाएगी। टनल के भीतर कटिंग एज टेक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल किया गया है। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस टनल के निर्माण के बाद हिमाचल प्रदेश, जो छोटा राज्य है, उसे केवल देश में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में पहचान मिली है। इतनी ऊंचाई पर इतनी लंबाई वाली कोई दूसरी टनल नहीं है। अटल सुरंग का डिजाइन प्रतिदिन तीन हजार कारों और 1500 ट्रकों के लिए तैयार किया गया है जिसमें वाहनों की अधिकतम गति 80 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की सरकार ने रोहतांग दर्रे के नीचे सामरिक रूप से महत्वपूर्ण इस सुरंग का निर्माण कराने का निर्णय किया था और सुरंग के दक्षिणी पोर्टल पर संपर्क मार्ग की आधारशिला 26 मई 2002 को रखी गई थी। 


 

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
BACK