Mayur Shelke, A Railway Pointsman Donation: मयूर शेलके ने पहले बहादुरी और अब अपनी दरियादिली से जीता सबका दिल

Mayur Shelke, A Railway Pointsman Donation: मयूर शेलके ने पहले बहादुरी और अब अपनी दरियादिली से जीता सबका दिल

23 Apr, 2021

Mayur Shelke, A Railway Pointsman Donation: 

मुंबई के के सेन्ट्रल लाइन वांगणी रेलवे स्टेशन के रेलवे ट्रैक पर हाल ही में एक नेत्रहीन मां के बच्चे की जान बचाकर रेलकर्मी मयूर शेलके लोगों की नज़रों में हीरो बन गए हैं। अब उन्होंने एक बार फिर से ऐसा काम किया है जिससे लोगों की नज़रों में वो हीरो बन गए हैं। उन्होंने ऐसा काम किया है जिसको जानकर आपके दिल में उनके लिए इज्जत और बढ़ जाएगी। 

दरअसल शेलके की बहादुरी के लिए लोगों ने उन्हें इनाम देने का ऐलान किया था। रेलवे डिपार्टमेंट ने भी उन्हें 50, 000 रुपए का इनाम दिया है। अब शेलके ने बताया है कि वो इनाम के राशि का आधा हिस्सा उस बच्चे की मां को देंगे। दरअसल मयूर को जब पता चला कि उस बच्चे के घर के हालात ठीक नहीं हैं तो उन्होंने ये फैसला लिया है। मयूर ने एक वीडियो साझा कर इसकी जानकारी दी है। 

जानें क्या है पूरा मामला? 

दरअसल, मुंबई के रेलवे प्लेटफार्म पर एक नेत्रहीन मां अपने छोटे से बच्चे के साथ उसका हाथ पकड़ कर जा रही थी। फिर अचानक बच्चे का हाथ छूट जाता है और वो रेलवे ट्रैक पर गिर जाता है। बच्चा गिरने के बाद चिल्लाने लगता है। मां उसको बचाने की कोशिश करती है लेकिन नेत्रहीन होने के कारण वो असहाय होती है। बच्चे की मां को कुछ समझ नहीं आता है। इसी बीच उसी ट्रैक पर एक ट्रेन आती दिखती है। जिसको देखते ही मयूर तेजी से वहां पहुंचते हैं और बच्चे को उपर ले आते हैं। और तभी वहां से ट्रेन गुजरती है। 


कौन हैं मयूर शेलके?

शेलके ने जानकारी दी कि जब वो ड्यूटी पर थे तो उन्होंने देखा कि एक बच्चा ट्रैक पर गिर गया है। उन्होंने जब बच्चे को गिरता देखा और सामने से ट्रेन को आते देखा तो मैंने पहले थोड़ा सोचा लेकिन अगले ही पड़ दौड़ पड़ा। शेलके जान की परवाह किए बिना ही ट्रैक पर कूदे और बच्चे को रेलवे ट्रैक से हटाया। 





यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
BACK