Vaccination for Covid 19 Positive: अगर कोई व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है या ठीक हो चुका है तो क्या उसे टीका लगाया जा सकता है?

05 Jun, 2021

Vaccination for Covid 19 Positive: 

देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसका एकमात्र उपाय वैक्सीन है। अब देश में 18 साल से ऊपर के लोगों को भी वैक्सीन लगने लगी है। अब ऐसे में लोगों के मन में कई सवाल हैं। सरकार ने कोरोना की स्थिति को संभालने की अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही है। कई राज्यों में सख्त दिशा निर्देश और प्रोटोकॉल जारी करके लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। इसी बीच, देश की जनता से अनुरोध है कि वो कोरोनावायरस के वैक्सीन के लिए अपना डोज लें ताकि उनके अंदर  वायरस से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा का निर्माण हो सके। टीकाकरण शरीर को कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) से लड़ने में मदद करता है। अगर आगे जाकर आपको कोरोना होता है, तो हमारी बॉडी पहले से ही इससे लड़ने के लिए अच्छी तरह से तैयार होगी और गंभीर स्वास्थ्य परेशानी से आपको छुटकारा मिलेगा। 

क्या कोरोना संक्रमित लगवा सकते हैं टीका? 

COVID-19 संक्रमित लोग टीकाकरण स्थलों पर दूसरों में भी कोरोना फैला सकते हैं। इसी वजह से, कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को 14 दिनों तक या पूरी तरह से ठीक होने के बाद टीकाक लगवाना चाहिए।

क्या कोरोना से ठीक होने के बाद लगवा सकते हैं टीका? 

सरकार के पैनल के मुताबिक जो लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और ठीक हो चुके हैं। जांच में उनके सार्स-सीओवी-2 से संक्रमित हुए हैं, उन सभी लोगों को ठीक होने के बाद करीब 6 महीने तक टीकाकरण (Recovery from Covid-19 defer Vaccination for 6 Months) नहीं करवाना चाहिए। सर गंगाराम अस्पताल के डॉ. एम वाली ने  बताया है कि, 'ये ठीक बात है कि कोरोना से ठीक होने के बाद 180  दिन बाद वैक्सीन ली जा सकती है, क्योंकि कोरोना से ठीक होने पर एंटी बॉडीज 8  महीने तक रहती है।” सर गंगाराम अस्पताल के ही डॉ. राजीव मेहता ने कहा, 'ये बिलकुल सही सुझाव है कि कोरोना से रिकवर हुए लोग 180 दिन बाद वैक्सीन लगवाएं, क्योंकि ठीक होने के बाद जो एंटी बॉडी बनती है वो 150 से 180 तक रहती है। इसलिए दो-दो एंटी बॉडीज क्यों दी जाए। इससे इससे वैक्सीन की किल्लत दूर होगी और जिनको असल में जरूरत है, उनको वैक्सीन मिलेगी।'

 
 

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
BACK